• ENGLISH हिन्दी
Please wait while loading..

Roles of Handholding Agencyप्रारंभिक सहयोग देने वाली एजेंसियाँ

Sr. No.क्र॰ सं॰ Area of Expertiseविशेषज्ञता का क्षेत्र Agencies Involved
[ Examples ]
संबंधित एजेंसियाँ
[ उदाहरण ]
Role of Agencyएजेंसी की भूमिका
1 Skilling (Vocational)कौशल निर्माण (व्यावसायिक) ITI/ITCआईटीआई/आईटीसी To impart accredited training in job related and technical skills. It covers various industries and technology as per the needs of entrepreneur. कार्य संबंधी तथा तकनीकी कौशलों में मान्यताप्राप्त प्रशिक्षण प्रदान करना। इसमें उद्यमी की आवश्यकता के अनुसार विभिन्न उद्योगों और प्राद्योगिकी को सम्मिलित किया जाता है।
2 Financial Training वित्तीय प्रशिक्षण Financial Literacy Centres promoted by Banks बैंकों द्वारा प्रवर्तित वित्तीय साक्षरता केंद्र These centres extend credit counseling to the entrepreneurs and facilitate in developing creditworthy proposals. They provide education on financial planning, responsible borrowing, debt counseling etc. They educate about various financial products available in the formal financial sector. ये केंद्र उद्यमियों को ऋण परामर्श प्रदान करते हैं और ऋणयोग्य प्रस्ताव विकसित करने में सहायक होते हैं। वे वित्तीय आयोजना, उत्तरदायित्वपूर्ण (responsible) उधारी, कर्ज परामर्श आदि के विषय में शिक्षित करते हैं। वे औपचारिक वित्तीय क्षेत्र में उपलब्ध विभिन्न वित्तीय उत्पादों के विषय में भी शिक्षित करते हैं।
3 Entrepreneurship Development Programmes (EDPs) उद्यमिता विकास कार्यक्रम (ईडीपी) RSETI and EDI and Tool Rooms आरसेटी तथा उद्यमिता विकास संस्थान तथा टूल रूम EDPs nurture the talent of prospective entrepreneurs by educating them on various aspects of industrial activities required for setting up a business. The programme provides useful information on product, process, design, manufacturing practices, testing, quality control, selection of appropriate machinery, project profile preparation, marketing techniques and financial management. उद्यमिता विकास कार्यक्रम भावी उद्यमियों को व्य़वसाय स्थापित करने हेतु अपेक्षित विभिन्न पहलुओं के विषय में शिक्षित कर उनकी प्रतिभा का पोषण करते हैं। उक्त कार्यक्रमों में उत्पाद, प्रक्रिया, डिजाइन, विनिर्माण पद्धतियों, जांच, गुणवत्ता नियंत्रण, उपयुक्त मशीनरी के चयन, परियोजना रूपरेखा तैयार करने, विपणन गतिविधियों और वित्तीय प्रबंधन के विषय में उपयोगी जानकारी प्रदान की जाती है।
4 Mentoring पथप्रदर्शन Industry Association & Chambers उद्योग संघ और चैंबर Mentoring is a process for the informal transmission of knowledge, social capital and psychosocial support perceived by the recipient as relevant to work, career or professional development. It is a voluntary process by experienced persons to guide an entrepreneur in business and related decision making process. पथप्रदर्शन अनौपचारिक रूप से ऐसी जानकारी, सामाजिक पूंजी तथा मनोवैज्ञानिक सहयोग प्रदान करने की प्रक्रिया है, जिसे प्राप्तकर्ता अपने कार्य, करियर अथवा व्यावसायिक विकास के लिए प्रासंगिक समझता है। यह एक स्वैच्छिक प्रक्रिया है, जिसके जरिए व्यवसाय तथा संबंधित निर्णयन प्रक्रिया के विषय में किसी उद्यमी का मार्गदर्शन अनुभवी व्यक्तियों द्वारा किया जाता है।
5 Application Filling/Project Report Preparation आवेदन दाखिल करना / परियोजना रिपोर्ट तैयार करना NGOs/Voluntary Organisations/ Professionals and Lead Banks/Skilling (Vocational)/Financial Training/DICs गैर-सरकारी संगठन/ स्वैच्छिक संगठन / प्रोफेशनल्स तथा अग्रणी बैंक / कौशल निर्माण (व्यावसायिक)/ वित्तीय प्रशिक्षण /जिला उद्योग केंद्र These agencies may facilitate entrepreneurs in filling up the loan applications and prepare project which broadly covers product, process, market and viability of the business. ये एजेंसियाँ ऋण आवेदन दाखिल करने में उद्यमियों की मददगार हो सकती है और साथ ही परियोजना तैयार करने में भी सहायक हो सकती हैं, जिसमे मोटे तौर पर उत्पाद, प्रकिया, बाजार तथा व्यवसाय की व्यवहार्यता को कवर किया जाता है।
6 Work sheds वर्क शेड District Industries Centre (DICs) जिला उद्योग केंद्र (डीआईसी) District Industries centres facilitate allotment of plot/shed in the industrial estate in specific area. जिला उद्योग केंद्र विशिष्ट क्षेत्र की औद्योगिक संपदा में भूखंड / शेड का आवंटन सुगम बनाते हैं।
7 Margin Money or Subsidy मार्जिन राशि अथवा सब्सिडी KVIC/KVIB/State Govt. /Central Govt. Bodies/DIC केवीआईसी / केवीआईबी / राज्य सरकार / केंद्र सरकार के निकाय / जिला उद्योग केंद्र These agencies will provide information and guidance support on availing range of subsidies/ margin money schemes that are available. ये एजेंसियाँ विभिन्न प्रकार की मौजूदा सब्सिडी / मार्जिन मनी योजनाओं का लाभ उठाने के संबंध में जानकारी तथा मार्गदर्शन प्रदान करेंगी।
© Copyright 2017. Stand-Up India. All rights reserved.
Made in India – Designed, Developed and Hosted by ESDS Software Solution Pvt. Ltd.
Best viewed with Internet Explorer 10+ or Latest versions of Google Chrome & Mozilla Firefox. Download Download IE10 Download Google Chrome Download Mozilla Firefox