• ENGLISH हिन्दी
Please wait while loading..

About Stand-Up India स्टैंड अप इण्डिया के बारे में

The Hon’ble Prime Minister, Shri. Narendra Modi in his Independence Day address on August 15, 2015 unveiled his game changer campaign "Start-Up India" Stand-Up India to promote entrepreneurship at grass root level for economic empowerment and job creation. The Stand-Up India Scheme launched to coincide with the celebration of the 125th birth anniversary of Dr. Babasaheb Bhimrao Ambedkar, seeks to leverage the institutional credit structure to reach out to the underserved sector of people such as Scheduled Caste, Scheduled Tribe and Women entrepreneurs so as to enable them to participate in the economic growth of the nation. The scheme will benefit atleast 2.5 lakh borrowers through 1.25 lakh bank branch network located across the country. माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2015 को अपने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने भाषण के दौरान युगांतरकारी "स्टैंड अप इण्डिया” की प्रस्तावना रखी। स्टैंड अप इण्डिया, आर्थिक सशक्तीकरण और रोजगार सृजन के लिए जमीनी स्तर पर उद्यमशीलता को बढ़ावा देने वाला है । स्टैंड-अप इण्डिया योजना की शुरूआत ऐसे समय की गयी है जब डॉ बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की 125 वीं जयंती मनायी जा रही है। इस योजना से असेवित क्षेत्र की अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और महिला उद्यमियों को संस्थागत ऋण संरचना का लाभ पहुंचाना है ताकि वे समर्थ होकर देश के आर्थिक विकास में योगदान कर सकें। इस योजना से देश भर में स्थित 1.25 लाख बैंक शाखा नेटवर्कों से 2.5 लाख उधारकर्ताओं को फायदा होगा।

The objective of the Stand-Up India Scheme is to facilitate bank loans between 10 lakh to 100 lakh to atleast one Scheduled Caste (SC) or Scheduled Tribe (ST) borrower and atleast one Woman borrower per bank branch of all scheduled commercial banks for setting up a greenfield enterprise. स्टैंड-अप इण्डिया योजना का उद्देश्य ग्रीनफील्ड उद्यम स्थापित करने के लिए सभी अनुसूचित वाणिज्यिक बैंको की प्रत्येक शाखा से कम से कम एक अनुसूचित जाति (एससी) या अनुसूचित जनजाति (एसटी) के उधारकर्ता व एक महिला उधार कर्ता को रु 10 लाख से रु 100 लाख तक बैंक ऋण सुलभ कराना है ।

The Stand-Up India portal provides a digital platform based on 3 pillars to support enterprises promotion among entrepreneurs from SC, ST and Women category through

  1. Handholding support
  2. Providing Information on financing
  3. Credit Guarantee.

स्टैंड अप इण्डिया पोर्टल अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमियों द्वारा उद्यम प्रवर्तन को बढ़ावा देने के लिए 3 स्तंभों आधारित डिजिटल प्लेटफार्म प्रदान करता है जो निम्नलिखित है

  1. प्रारम्भिक सहायता
  2. वित्त पोषण के लिए सूचना उपलब्ध कराना
  3. क्रेडिट गारंटी।

Potential entrepreneurs can navigate through the interactive portal for support services such as training, skill development programs, mentorship, guidance etc. or register for loans by accessing the portal. The portal also provides crucial links to Central and State SC/ST Corporations, Industry Associations of SC/ ST and/or Women entrepreneurs. संभावी उद्यमी इस इंटरेक्टिव पोर्टल से सहायक सेवाएं जैसे प्रशिक्षण, कौशल विकास कार्यक्रम, मेंटरिंग, मार्गदर्शन आदि एवं पोर्टल में एक्सेस कर ऋण के लिए पंजीकरण भी कर सकते हैं। पोर्टल से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमियों को केंद्र अथवा राज्य अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति निगमों, उद्योग संगठनों के महत्त्वपूर्ण लिंक भी उपलब्ध हो सकते हैं।

For details regarding Small Industries Development Bank of India please visit www.sidbi.in विस्तृत विवरण के लिए भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक के वेबसाइट www.sidbi.in पर जाएँ.

© Copyright 2017. Stand-Up India. All rights reserved.
Made in India – Designed, Developed and Hosted by ESDS Software Solution Pvt. Ltd.
Best viewed with Internet Explorer 10+ or Latest versions of Google Chrome & Mozilla Firefox. Download Download IE10 Download Google Chrome Download Mozilla Firefox